Kainchi Dham Neem Karoli Baba Ashram | नीब करौरी बाबा

स्वागत है आपका हमारे नए ब्लाग में जैसा की आप सब जानते है की भारत एक हिंदू देश है और यहां कई प्रसिद्ध मंदिर है और हो क्यों ना क्यों की हम लोग आस्था में बहुत मानते है तो चलिए हम आज आपको बताते है की भारत का कौन सा मंदिर विश्व भर में प्रसिद्ध है,

कैंची धाम एक मंदिर और आश्रम है जिसको (Neem Karoli Baba Ashram) के नाम से भी जाना जाता है.

इस मंदिर की स्थापना 1960 /1961 के दशक में एक महान संत श्री नीम करोली बाबा ने की थी। यह एक पवित्र मंदिर है जो उत्तराखंड के भवाली (नैनीताल) घाटी में स्थित है और इसके अलावा बहने वाली नदी किनारे स्थित है।

आप आश्रम में शांति और नदियों की बहने वाली आवाज को महसूस कर सकते हैं।

Kainchi Dham Neem Karoli Baba Ashram

क्या आप जानते है (Neem Karoli Baba) कैंची धाम  मन्दिर को क्यों माना जाता है विश्व प्रसिद्ध?

आज भारत ही नहीं विश्व भर से दर्शन करने आते है लोग यहाँ हाल ही में अनुष्का और विराट कोहली (क्रिकेटर) अपने पूरे परिवार के साथ इस मन्दिर के दर्शन के लिए आए थे

माना जाता है की इस मंदिर से होती है लोगो की मनोकामना पूरी आपने सुना होगा की फेसबुक (Facebook) के Founder (Mark Elliot Zuckerberg) को इस मंदिर के दर्शन करने का सुझाव Apple के Founder ने ही दिया था उन्हीं के सुझाव पे वो यहां के दर्शन के लिए आए थे ,बाबा नीम करौली (कैंची धाम) नैनीताल का कैंची धाम देश ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में आस्था का प्रतीक है. बड़े-बड़े लोग बाबा नीम करौली बाबा के भक्त रहे हैं,

माना जाता है की Apple के मालिक स्टीव जॉब्स को कटा हुआ सेब दे के दिया था आशीर्वाद,स्टीव जॉब्स के बाद फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग भी बाबा नीम करौली के दरबार के प्रति श्रद्धा रखते हैं

कैची धाम कब जाना चाहिए –Kainchi Dham Kab Jana Chahiye?

दोस्तो उत्तराखंड के नैनीताल district में ठंड काफी मात्रा में होती है और बरसात के मौसम में उत्तराखंड की रोड में लैंडस्लाइड का खतरा ज्यादा रहता है

दोस्तो आपको बता दें कि हर साल जून के महीने में यहां एक मेले का आयोजन किया जाता है जिसमे विश्व भर से श्रदालु दर्शन और प्रसाद गृहण करने के लिए आते है मन्दिर के द्वार हमेशा खुले रहते है कभी भी आप यहां के दर्शन कर सकते है

आशा करता हूं हमारे द्वारा इस ब्लॉग में दी गई जानकारी से आप को मदत मिली होगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *